Home Without Label

बियर पीने के 5 फायदे क्या हैं ?



1. किडनी में स्टोन है, तो बियर पीजिए
बियर के फायदों में सबसे पहले किडनी स्टोन का ज़िक्र आता है। अगर आपकी किडनी में स्टोन है, तो बहुत मुमकिन है कि रोज़ाना एक बीयर पीने से यह धीरे-धीरे पेशाब के रास्ते निकल जाए। फिनलैंड की राजधानी हेलसिन्की में 27 हज़ार लोगों पर हुई रिसर्च में पता चला कि रोजाना एक बियर पीने से किडनी में स्टोन होने का खतरा 40% तक कम हो जाता है। वजह यह है कि बियर में पानी और शराब दोनों होती हैं, जिससे पेशाब पतली होती है और बहाव तेज़ होता है। इससे स्टोन बनने का खतरा कम होता है।
2. दिल से प्यार है, तो बियर पीजिए
जब दिल की अंदरूनी सतह पर कॉलेस्ट्रॉल और दूसरे वसा-युक्त पदार्थों की सतह जम जाती है, तो डार्क या स्ट्रॉन्ग बियर पीने से दिल का दौरा पड़ने की आशंका कम होती है। यह बात अमेरिका के पेंसिलवेनिया की एक यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च में सामने आई थी।
3. ढक्कन हटाइए, दिमाग चलाइए
स्ट्रोक समझते हैं न! दिमाग से जुड़ा मामला है। आमतौर पर लोगों को स्ट्रोक तब पड़ता है, जब उनके दिमाग में खून का थक्का बन जाता है और वो दिमाग में खून और ऑक्सीज़न के प्रवाह को रोक देता है। जितने ज़्यादा थक्के होंगे, हालत उतनी खराब हो जाएगी। पर बियर पीने से खून का संचार करने वाली धमनियां लचीली हो जाती हैं और खून का संचार तेज हो जाता है। इससे खून का थक्का जमने की आशंका कम हो जाती है।
4. जान हड्डियों में होती है
कुछ समझदार लोग कह गए हैं कि अति हर चीज़ की खराब होती है। यह बात बियर पर भी लागू होती है। बियर में सिलिकॉन नाम का तत्व भरपूर मात्रा में होता है। यह वही तत्व है, जो हड्डियों को विकसित होने में मदद करता है। लेकिन, मैसाचूसिट्स की एक यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च बताती है कि अगर आप दिन में एक से दो ग्लास बियर पीते हैं, तो आपकी हड्डियों में फ्रैक्चर होने की आशंका कम होती है। लेकिन, अगर आप इससे ज़्यादा बियर पीते हैं, तो फ्रैक्चर या हड्डी टूटने का खतरा बढ़ जाता है।
5. डायबिटीज़ के मामले में सुरक्षा ही बचाव है
डायबिटीज़। भारत में तेज़ी से बढ़ती हुई बीमारी, जो शरीर को दीमक की तरह चाट जाती है। 2011 में हॉवर्ड में अधेड़ उम्र के 38 हज़ार लोगों पर हुई रिसर्च में यह नतीजा निकला कि अधेड़ उम्र के जो लोग रोजाना एक से दो ग्लास बियर पीते हैं, उनमें टाइप-2 डायबिटीज़ होने की आशंका 25% तक कम हो जाती है। वजह यह है कि बियर में मौजूद शराब शरीर में इंसुलिन सेंसिटिविटी बढ़ाती है, जो डायबिटीज़ रोकने में मदद करती है।
6. अल्ज़ाइमर नहीं चाहते हैं तो बियर का रुख कीजिए
अल्ज़ाइमर यानी दिमाग की वह स्थिति, जब वह चीज़ें भूलने के साथ-साथ और भी कई काम बंद कर देता है। दुनिया के कई देशों में हुई रिसर्च में सामने आया है कि जो लोग नियमित रूप से बियर पीते हैं, उनमें अल्ज़ाइमर या डिमेंशिया के अन्य कई प्रकार होने की आशंका 23% तक कम हो जाती है। हालांकि, रिसर्चर्स अभी तक यह पता नहीं लगा पाए हैं कि ऐसा क्यों या कैसे होता है। कुछ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि बियर में मौजूद शराब शरीर में गुड कॉलेस्ट्रॉल बढ़ाती है, जिससे दिमाग में खून का प्रवाह बेहतर होता है और इससे दिमाग का मेटाबॉलिज़्म बेहतर होता है। वहीं कुछ मानते हैं कि बियर में मौजूद सिलिकॉन दिमाग को शरीर में मौजूद एल्यूमिनियम से बचाता है, जो अल्ज़ाइमर की एक वजह है।
7. सो नहीं पाते हैं, तो डॉक्टर बियर पीने को कहेगा
इन्सोम्निया यानी सो न पाने की समस्या। जागते रहते हैं, नींद नहीं आती है, तो ऐसी स्थिति में आपका डॉक्टर भी आपको बियर पीने की सलाह देगा। वजह यह है कि एक तो बियर नेचुरल नाइटकैप है। नाइटकैप यानी खाने के बाद या बिस्तर पर जाने से पहले पी जाने वाली चीज़। दूसरी वजह यह है कि बियर पीने से दिमाग में डोपामीन का प्रवाह तेज होता है। डोपामीन शरीर को रिलैक्स करता है।
8. सब कुछ अच्छा-अच्छा देखना चाहते हैं, तो बियर पीजिए
लंदन और कनाडा में बनी वेस्टर्न ऑन्टेरियो यूनिवर्सिटी में हुई रिसर्च में पाया गया कि बियर में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स माइटोकॉन्ड्रिया को खराब होने से बचाता है। माइटोकॉन्ड्रिया शरीर का वह हिस्सा है, जो ग्लूकोज़ को एनर्जी में बदलता है। जब आंख की बाहरी लेंस पर माइटोकॉन्ड्रिया डैमेज हो जाता है, तो इंसान को मोतियाबिंद हो जाता है। बियर के एंटीऑक्सीडेंट्स माइटोकॉन्ड्रिया को मज़बूती देते हैं। लेकिन, इस मामले में एक्सपर्ट्स ज़ोर देकर कहते हैं कि दिन में एक ग्लास बियर तो फायदा देगी, लेकिन इससे ज़्यादा नुकसान करने लगेगी और नज़र कमज़ोर होने लगेगी।
9. क्या बियर कैंसर ठीक कर सकती है?
अब कैंसर का क्या ही कहें. कोई नहीं कह सकता कि किस चीज़ से कैंसर ठीक हो सकता है। हां, इडाहो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक मानते हैं कि बियर को कैंसर से लड़ने में इस्तेमाल किया जा सकता है। बियर बनाने में हॉप्स नाम के पौधे का इस्तेमाल होता है। इसमें पाए जाने वाले ह्यूमूलोन्स और ल्यूपूलोन्स नाम के एसिड बैक्टीरिया और बीमारियों को बढ़ने से रोक सकते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट्स को लगता है कि बियर से कैंसर के इलाज में मदद मिल सकती है।
10. डैंड्रफ से छुटकारा चाहिए, तो बियर खरीद लाइए
इसके तो आपने विज्ञापन भी देखे होंगे। बियर शैंपू के नाम पर कई प्रॉडक्ट्स भी बिकते हैं। बियर को डैंड्रफ खत्म करने का नैचुरल उपाय माना जाता है। बियर में यीस्ट और विटामिन बी भारी मात्रा में होती है, जो डैंड्रफ रोकने में काम आता है। बियर से बाल धोने से बियर वाले शैंपू से बाल धोने से डैंड्रफ कम होगा और आपके बाल शाइनीं दिखेंगे।

Read also :

to Top